खरीदै का परत है बाजार के दवाई

atraजिला बांदा, ब्लाक नरैनी, कस्बा अतर्रा। हेंया 27 अप्रैल का इलाज करावैं आय मड़ई सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के डाक्टरन के ऊपर बाजार से दवाई लिखैं का आरोप लगाइन। स्वास्थ्य विभाग या बात मानैं से मना कई दिहिस।
ब्लाक नरैनी के सिरसौना गांव का शिवऔतार का कहब है-“मोहिका अप्रैल महीना के पहिले हफ्ता मा कुत्ता काट लिहिस रहै। हर हफ्ता दुई सौ साठ रूपिया के दवाई मेडिकल से खरीदत हौं। इं दवाई सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के डाक्टर खरीदैं खातिर पर्ची लिख के देत हैं। अगर मोहिका पता होत कि सरकारी अस्पताल मा यतना रूपिया लागी तौ प्राइवेट मा ही दवाई करा लेतेंव।”
महुआ ब्लाक के पचोखर गांव के शांती अउर नरैनी ब्लाक के पल्हरी गांव के फूला का कहब है कि पर्ची मा दुकान का नाम अउर दवाई का नाम लिख देत हैं।
अतर्रा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र प्रभारी चिकित्साधिकारी बी.के. श्रीवास्तव का कहब है कि दवाई बाजार से मंगावै का आरोप झूठा है। रात मा मरीज मोरे सरकारी आवास मा दवाई लिखावै आवत हैं तौ बाहर के ही लिखत हौं। रात मा दवाई वितरण कक्ष नहीं खेलित आय।