खराब परे हैण्डपम्प

DSCN0022जिला महोबा, ब्लाक कबरई, गांव पचपहरा वार्ड छह ओर सात। ई मोहल्ला में पांच हैण्डपम्प लगे हंे। जोन पांच महीना से खराब परे हें। ईखे लाने प्रधान सचिव ओर ब्लाक के कर्मचारी कोनऊ ध्याान नई देत हें।
रावरानी महेन्द्र ओर छोटेलाल बताउत हंे कि हमखा पानी भरे खे लाने गांव से एक किलो मीटर दूर खेत के कुआं में जाने परत हे। ऊ कुआं में कभऊं दवाई नई डारी जात हे। ऊखो गन्दो पानी हजारन आदमी पिये खा मजबूर हे। वार्ड नम्बर एक के वार्ड मेम्बर मूलचन्द्र बताउत हंे कि पूरे गांव में पैंतिस हैण्डपम्प लगे हें। हर वार्ड में एक- दो हैण्डपम्प खराब परे हंे।
प्रधान तुलसा रानी के लड़का तेजप्रताप ने कहो कि हमने हैण्डपम्प बनवायें खा केऊ दइयां लिख के ब्लाक में भेजो हे। मिस्त्री खा हैण्डपम्प बनवाये के लाने कहत हें तो ऊ कहत हंे कि जभे मोओ पेहले हैण्डपम्प बनवाये को रूपइया दओ जेहे। तभई में हैण्डपम्प बनाहों। ए.एन.एम. सावित्री कहत हे कि बरसात के महीना में पन्द्रह दिन में दवाई डारी जात हे, पे अभे दवाई नइयां। जभे महोबा से दवाई आहे तो कुआं में डार दई जेहे।
बी.डी.ओ. ओमप्रकाश मिश्रा बताउत हें कि ओते के हैण्डपम्प खराब होय की जानकारी मोये नइयां। अब जानकारी मिली हे तो एक हफ्ता के भीतर हैण्डपम्प सुधरा दये जेहें।