खबर लहरिया की खबर का असर, कब्ज़ा मुक्त हुआ रैन बसेरा

ललितपुर जिले के ब्लाक महरौनी में बने रैन बसेरा में कोई सुविधा नहीं थी और यहां बिजली विभाग ने कब्जा जमा रखा था। तब 22 दिसम्बर 2017 को खबर लहरिया में यह खबर प्रकाशित हुई थी। खबर के असर के कारण अब रैन बसेरा को विभाग से खाली कराकर, साफ-सफाई कराकर उत्तम व्यवस्था कर दी गई है। अब यात्री यहां रुक सकते हैं।
समाज सेवी नाथूराम पाल का कहना है कि अब रैन बसेरा एक मन्दिर जैसा लगने लगा है। सफाई और पुताई हो गई है और स्वच्छ भारत लिखा गया है। खबर लहरिया ने यह मुददा उठाया है तो यह उसी का असर है। नहीं तो यहां के रैन बसेरा को कोई नहीं जनता था।रामदास कुशवाहा का कहना है कि सभी छह कमरों में रजाई, बिस्तर, तखत, बिजली, पानी और शौचालय की व्यवस्था भी है।
रैन बसेरा कर्मचारी चीकू तिवारी का कहना है कि मैं यहां रात में रहता हूं। जो यात्री आते है उनके ठहरने की व्यवस्था की जाती है। लोग दिन में कूड़ा डाल देते है इसलिए कमरों में ताला लगा रहता है।
एस.डी.एम. धीरेन्द्र प्रताप सिंह का कहना है कि खबर लहरिया के कारण रैन बसेरा के बारें में पता चला है, इसलिए उसे खाली कराकर सारे काम कराये गये है। अब  लोग उसमें ठहर सकते हैं। खबर लहरिया अच्छा चैनल है जो इस तरह के मुददों को फोकस करता है।

रिपोर्टर- सुषमा

Published on Mar 8, 2018