खतौनी के अभाव में बांदा के किसानो का क्या हो रहा है नुकसान

बांदा जिले के नरैनी तहसील के खतौनी कार्यालय के हाल बहुतै खराब है, काहे से किसान खतौनी का फार्म नहीं जमा कई पावत आहीं। क्रेडिट कार्ड अउर आपन खर्चा खातिर खतौनी जरूरी है।
रोहित अवस्थी का कहब है कि हम पच्चीस किलोमीटर दूरी से खतौनी का फार्म जमा करै अइत है पै दिनभर लाइन मा लागे के बाद वापस चले जइत है। लल्लन सिंह का कहब है कि हमें खतौनी के नकल के जरुरत रहै। एक हफ्ता से चक्कर लगावत होइगें पै हमार खतौनी फार्म नहीं जमा भे आहीं। सर्वर डाउन तौ कत्तौ छुट्टी के कारन हमार काम नहीं होत आय। पचास रुपिया हेंया आवै मा लागत है। दिनेश कुमार का कहब है कि हम आठ दिना से खतौनी बनवावै खातिर चक्कर लगाइत है। संतराम बताइस कि हेंया आवै से हमार समय अउर रुपिया दूनौ बर्बाद होत है।
खतौनी लेखपाल भानु का कहब है कि हेंया स्टाफ कम है तौ कत्तौ सर्वर डाउन होइ जात है। दुई बजे के बाद फार्म जमा नहीं होत आहीं।

रिपोर्टर- गीता देवी

Published on Mar 8, 2018