खतरा के घंटी हई बिजली के तार

Gluehlampe_01_KMJजिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड सोनबरसा के पुरे एरिया में बिजली के तार पचासो वर्ष पहिले के लागल हई। जे तार अभी बहुत जर्जर हो गेल हई। केतना बेर तार टूट टूट के गीरई छई। लेकिन एई तार बदली या मरमती के लेल बिजली विभाग के अधिकारी के ध्याने न छई।
सोनबरसा के राजीव कुमार, संतोष कुमार, विजय, राजेश सब के कहना हई कि हमर सब के उम्र चालीस से उपर हई। हम सब लोग सबदिन से एइसने जर्जर तार देखई छी। केतना बेर तार टुट टुट के गीरई हई। लेकिन यई पर कांई ध्यान न देई छथिन। अभी तुरंत 21 मई 2013 के बस स्टेन में बिजली के तार गीर गेलई। जेई से दु घंटा यातायात बांधित भेलई। संजोग इहे रहई कि ओई समय बिजली कटल रहई। न त केतना घटना होईतियई। जब घटना हो जतई तब विभाग सुनतई।
मुखिया  संजय कुमार महतो के कहना हई कि हमसब बिजली के तार बदली के लेल बैठक में बात रखली अगर विभाग के लोग  सुनथिन अउर तार बदली करा देथिन त डर दुर हो जतई। जिला एस्कुटी इंजीनियर के.जी. चन्द्रा कहलथिन कि अभी सोनबरसा के तार बदली करे लेल निकल गेल हई बहुत जल्दी तार बदला जतई।