कौनसी सरकारी फाइल में बंद हैं सरकारी स्कूलों के बच्चों के जूते और स्वेटर? झांसी के खैलार की खबर

बच्चों को सर्दी से बचाने के लिए पहली बार सरकारई स्कूलों में स्वेटर और जूते-मोज़े देने की सरकार की योजना फेल होती नजर आती है। जिला झांसी, ब्लाक बबीना, गांव खैलार के प्राथमिक विद्यालय में आधी जनवरी बीत जानें के बाद भी बच्चों को स्वेटर नहीं मिले हैं। इसलिए बच्चें गलन भरी ठण्ड में ठिठुरने को मजबूर हैं।
स्कूल के बच्चे शिवम का कहना है कि स्कूल में हमें अभी तक स्वेटर मिला है न जूता मोजा मिला है। खाली स्कूल के कपड़े पहने राधिका ने बताया कि सर जी ने हमें बताया था कि स्वेटर मिलेगे किन्तु अभी तक नहीं मिले है। इसलिए खाली स्कूल के कपड़े बस पहन के आते है। हेडमास्टर उत्तम सिंह का कहना है कि मोज़े आ गये है किन्तु अभी जूते नहीं आये हैं। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सुनील कुमार राजपूत ने बताया कि अभी शासन स्वेटर के लिए पैसा नहीं आया है। जब पैसा आयेगा तभी स्वेटर बांटे जायेगें।

रिपोर्टर- सफीना

Published on Jan 17, 2018