कोटेदार के ऊपर राशन बेचैं का आरोप

समस्या लइके आये गांव के मड़ई
समस्या लइके आये गांव के मड़ई

जिला बांदा, ब्लाक कमासिन, गांव मवई। हेंया के कुछ मड़इन का आरोप है कि उनके गांव का कोटेदार राशन बाटैं मा घटतौली करत है। फरवरी अउर जून के महीना का मिट्टी का तेल नहीं बांटिस आय। यहिसे उंई 26 अगस्त 2014 का बबेरू तहसील दिवस मा दरखास दइके जांच के मांग करिन हैं।
शिवसागर बतावत है कि हम लोग बाजार से 40 रूपिया लीटर का मिट्टी का तेल लइके जलावत हन। फरवरी अउर जून का मिट्टी का तेल कोटेदार नहीं बांटिस आय। रामप्रकाश कहत है कि कोटेदार 20 किलो चावल अउर 15 किलो गेहूं मतलब कुल 35 किलो अनाज मा घर मा तउलै से 30 किलो ही निकरत है अउर चीनी तौ कतौ नहीं देत।
कोटेदार चन्दा प्रसाद का कहब है कि मोरे कोटा मा ए.पी.एल. राशन कार्ड निहाय। मैं लिस्ट के हिसाब से राशन वितरण करत हौं। जून 2014 मा सोलह लोगन का राशन ब्लाक से ही नहीं आवा आय। बी.पी.एल. राशन कार्ड 65 हैं। तीन कुन्तल पचीस किलो चीनी, नौ सौ लीटर मिट्टी का तेल, बी.पी.एल. राशन कार्ड मा गेहूं 9 कुन्तल 75 किलो अउर 13 कुन्तल चावल आवत है।
बबेरू के नायब तहसीलदार दिलीप कुमार का कहब है कि हमरे हेंया दरखास आई है, तौ जांच भी जरूर कराई जई। अगर जांच मा कोटेदार गलत पावा गा तौ वहिके ऊपर कारवाही कीन जई।