कोटेदार के ऊपर गल्ला चोरी का आरोप

हेंया मड़ई पकडिन रहैं गल्ला
हेंया मड़ई पकडिन रहैं गल्ला

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, गांव डढ़वामानपुर का मजरा फतेहगंज अउर कारीडांडी। हेंया के मड़ई बताइन कि उंई कोटा का छह महीना का गल्ला साधन सहकारी समिति डढ़वामानपुर मा पकडि़न हैं। गल्ला पकड़ै वाले मड़ई 16 सितंबर 2014 का अतर्रा तहसील मा दरखास दइके या मामला के जांच करैं के मांग करिन हैं।
चुन्ना, अशोक अउर भागवत गुप्ता बताइन-“ साधन सहकारी समिति डढ़वामानपुर का सचिव शिवशंकर पटेल हमार गांव का कोटा चलावत है। कोटेदार मार्च से सितंबर 2014 तक का गल्ला तीन सौ ए.पी.एल. राशन कार्ड का नहीं बांटिस रहै। मड़ई तीन सौ कुन्तल गेहूं अउर चावल पकड़ लिहिन। तबै पता चला कि कोटा मा गल्ला आवत रहै, पै कोटेदार बांटत नहीं रहा आय। हम या मामला मा जांच करावैं खातिर 16 सितंबर 2014 का अतर्रा तहसील मा दरखास दीन है। एस.डी.एम. मनोज कुमार सिंह दरखास देतै जिला पूर्ती विभाग के अधिकारी का जांच करैं का आदेश दिहिन हैं।”
कोटेदार शिवशंकर पटेल कहत है कि कुल नौ सौ राशन कार्ड हैं। ए.पी.एल. राशन कार्ड मा 12 कुन्टल गेहूं अउर 16 कुन्तल चावल आवत है। सितंबर के महीना मा सिर्फ 35 कुन्तल चावल आवा है, गेहूं नहीं आवा आय। हर राशन कार्ड मा 20 किलो चावल दीनेंव। 170 राशन कार्ड का चावल मिल गा, पै बाकी राशन कार्ड का चावल नहीं पूजा आय। या मारे मड़ई मोरे ऊपर गल्ला चोरी का आरोप लगावत हैं।
अतर्रा जिला पूर्ति विभाग के इंस्पेक्टर मनुज गहराना का कहब है कि या ममाला के जांच चलत है। जांच मा अगर पावा गा कि सरकार पूर गल्ला भेजिस है अउर कोटेदार नहीं बांटिस तौ कारवाही कीन जई।