कॉमनवेल्थ खेलों में निशानेबाजों और पहलवानों ने भी स्वर्ण झटका

साभार: अमित शाह/ट्विटर

कॉमनवेल्थ खेलों में भारतीय निशानेबाजों का जलवा कायम है। भारतीय निशानेबाज़(शूटर) श्रेयसी सिंह ने भारत को महिलाओं की डबल ट्रैप स्पर्धा में 12वां गोल्ड मेडल दिला दिया है।
इसके बाद पुरुष वर्ग में अंकुर मित्तल ने कांस्य पदक दिलाया है। अंकुर मित्तल ने मेडल शूटिंग डबल ट्रैप में जीता।
श्रेयसी, अंकुर और ओम के मेडल के बाद शूटिंग में भारत ने कुल 11 मेडल जीत लिए हैं।
इससे पहले शूटर ओम मिथरवाल ने 50 मीटर पिस्टल इवेंट में कांस्य पदक पर निशाना लगाया। खेल के सातवें दिन भारतीय शूटर्स जीतू राय और ओम मिथरवाल 50 मीटर पिस्टल इवेंट में शामिल हुए।
कॉमनवेल्थ खेलों में अब भारत के 24 मेडल हो गए हैं। इनमे 12 गोल्ड, 4 सिल्वर और 8 ब्रॉन्ज मेडल शामिल है। पदक तालिका में भारत तीसरे नंबर पर बना हुआ है।
वहीं मुक्केबाजी में बॉक्सिंग क्वीन एमसी मेरी कॉम ने 45-48 किलो ग्राम भार वर्ग के फाइनल में जगह बना ली है। अब वह गोल्ड से महज एक जीत दूर हैं।
मुकाबले में मनोज कुमार (69 किग्रा) ने खेलों में अपने लिए दूसरा पदक पक्का किया जबकि उनके अलावा चार अन्य भारतीय मुक्केबाजों ने भी इस खेल महाकुंभ के सेमीफाइनल में जगह बनाई।
मनोज के अलावा पहली बार इन खेलों में भाग ले रहे अमित पंघाल (49 किग्रा ), मोहम्मद हसमुद्दीन (56 किग्रा ), 19 वर्षीय नमन तंवर (91 किग्रा ) और सतीश कुमार (91 किग्रा से अधिक) ने भी सेमीफाइनल में पहुंचकर अपने लिए पदक पक्के कर लिए हैं।