कैसे पढ़ेंगे बच्चे, जब स्कूल में लगा हुआ है ताला, ललितपुर जिले के पथराई की कहानी

जिला ललितपुर, गांव पथराई  सब पढ़े सब बढे सर्व शिक्षा अभियान को जो नारा जैसे अबे तक नइ बदलो बैसेइ शायद विद्यालय में भी कोनऊ बदलाओ नइ आओ। जिला पूर्व माध्यमिक विद्यालय  जो केऊ महीना से बंद हे। अबे तक कोनऊ वयवस्था नइ भइ।जिला ललितपुर, गांव पथराई  सब पढ़े सब बढे सर्व शिक्षा अभियान को जो नारा जैसे अबे तक नइ बदलो बैसेइ शायद विद्यालय में भी कोनऊ बदलाओ नइ आओ। जिला पूर्व माध्यमिक विद्यालय  जो केऊ महीना से बंद हे। अबे तक कोनऊ वयवस्था नइ भइ। प्राथमिक माध्यमिक विद्यालय के बच्चन को प्राथमिक विद्यालय में ही पढ़ाओ जा रओ। इते एक ही शिक्षक अठासी बच्चन को अकेले पढ़ात। बच्चन के मताई बाप को केबो हे के बच्चा और बिगर रए। नइ भर्ती वाले अध्यापक पास के विद्यालय ले लेत इते बहुत दूर पड़ जात। कछू अध्यापक तो इते आबे से मना करत अगर जो आ भी जात तो बे तबादले की मांग करत। गौतम वर्मा ने बताई हमाय  विद्यालय में कोनऊ अध्यापक नइया बंद डरो। शिवपाल सिंह पटेल और दुखी ने बताई के चार पांच महिना से बंद हे शिक्षक ही नइया। पहले के जो शिक्षक हते बे रिटायर्ड हो गये अब जब नइ नियुक्ति हुए तब शिक्षक आहे। जो सहयोगनी हे बे भी गयी ती हम भी गये ते बी एस ए के पास उन ने बताई ती के जुलाई से स्कूल खुल हे। और शिक्षक पहुच जेहे। सुखराम ने बताई के अगर विद्यालय सुधर जेहे तो बच्चा भी सुधर जेहे नइ तो केसे सुधर हे। बच्चन को अ आ आत नइया और आठ पास हो जात और न पढ़ाई हो रई। योगेन्द्र सिंह शिक्षक ने बताई के जब शिक्षक नइया और माध्यमिक विद्यालय बंद हे उते के जो इंचार्ज हते बे रिटायर्ड हो गये। अब सबरे बच्चा इते पढ़ाई करबे आत और इते तो पहले से ही ज्यादा बच्चा हते केसे समारे। जब तक स्टाफ नइ  आहे तब तक केसे पढ़ाई हो पेहे सही से। बायजित खा अध्यापक ने बताई अध्यापक ने बताई के हम अकेले कहा तक पढ़ाए बारी बारी से जितनो समय मिल पात उतनो पढ़ा देत। गांव के आदमियन और हमने भी लिख के दई ती अधिकारी को के विद्यालय बंद हे। दो जगह हम बैठ नइ सकत। संतोष कुमार राय बेसिक शिक्षा ने बताई के पथराई में सेवा नियुक्त के पश्चयात उते समस्या आई हे। प्राथमिक विद्यालय से उते नियुक्त करबे के लाने निर्देश दओ गओ हे। शासनादेश हमे प्राप्त हो चुको समायोजन की प्रिक्रिया चल रई और उते स्थाई रूप से नियुक्त करी जेहे। अध्यापको को अपनी छुट्टी लेबे को ज्ञान हे का बच्चन के शिक्षा को ज्ञान नइया। आखिर बच्चन को उनके शिक्षा को अधिकार कबे मिल हे।

रिपोर्टर- राजकुमारी

Published on Jul 7, 2017