केरल की बाढ़ में जान-माल का भारी नुकसान, सरकार और देश भर से बढ़े मदद के हाथ

साभार: रेड्डीट

केरल में आई बाढ़ की वजह से राज्य के कई हिस्से जलमग्न हैं जबकि लाखों लोग राहत शिविरों में रहने को मजबूर हैं। इन सबके बीच केरल पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। पीएम ने तत्काल मदद के रूप में 500 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है। 

बाढ़ के कारण एक ही दिन में 106 लोगों की मौत के बीच राज्य में ऑक्सीजन की कमी और ईंधन स्टेशनों में ईंधन नहीं होने की वजह से हालात और मुश्किल हो गए हैं।

बीते आठ अगस्त से अभी तक केरल में आए इस जल प्रलय में 173 लोगों की मौत हो चुकी है और बड़े पैमाने पर जानमाल का नुकसान हुआ है।

यही नहीं, इस कारण राज्य की आय का प्रमुख स्रोत माने जाने वाले पर्यटन उद्योग को भी झटका लगा है। हजारों एकड़ खेत में खड़ी फसलें बर्बाद हो गई हैं जबकि करोड़ों रुपए की संपत्तियां पानी में डूबी हुईं हैं।

दुनिया भर में लोग केरल में बाढ़ पीड़ितों की हालत पर दुख जता रहे हैं। देश भर से कई राज्यों ने केरल की मदद के लिए सहयोग करने का फैसला किया है।

भारतीय नौसेना ने केरल में बाढ़ से बेहद प्रभावित त्रिशूल, एर्नाकुलम और पथनन्मथीट्टा में एयर रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रखा है और पीड़ितों को प्रभावित इलाकों से निकालने में बेहद सतर्कता से जुटी है।

दिल्ली सरकार केरल में खासी तादात में पानी की बोतलें, बिस्कुट और सूखे खाद्य पैकेट भेजेगी। लोगों को उदारता से दान करने का अनुरोध करने के लिए विज्ञापन जारी किए जायेंगे। 

केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए दिल्ली सरकार ने पहल की है सरकार दिल्ली में सभी एसडीएम कार्यालयों में दान केंद्र खोल रही है। लोगों से कपड़े, कंबल और बिस्तर चादरें दान करने का अनुरोध किया गया है साथ ही लोगों से मुख्यमंत्री केरल रिलीफ फंड में दान करने का भी अनुरोध किया है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने तत्काल मदद के रूप में केरल को 20 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है। सीएमओ  महाराष्ट्र के ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने केरल को हरसंभव मदद देने का ऐलान किया है।  वहीं झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने भी बाढ़ प्रभावित इस राज्य को पांच करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऐलान किया है कि उनके सभी सभी सांसद, विधायक और मंत्री एक महीने का वेतन केरल बाढ़ प्रभावितों को दान करेंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री से अपील करते हुए कहा है कि केरल की बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए, क्योंकि वहां हमारे लाखों लोगों की जिंदगी और भविष्य दांव पर है।

अर्नाकुलम जिले में कुल 416 कैंप लगे हैं जिसमें 41093 परिवारों के 142022 लोगों को रखा गया है। एनडीआरएफ लगातार बचाव और राहत कार्यों में जुटी है।

बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई  सर्वेक्षण कर रहे हैं पीएम नरेंद्र मोदी। पीएम मोदी ने बाढ़ से पीड़ित केरल को तत्काल सहायता के रूप में 500 करोड़ रुपये की मदद की घोषणा की।  पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से बाढ़ के दौरान मृत व्यक्ति के परिजनों को 2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायल को 50,000 रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की।