केन्द्र मा गेहूं कसत बेचैं

wheat

बांदा, सहकारी गेहूं केन्द्र। हिंया गेहूं बेचै आय किसान का छाया रहै खातिर उनके जानवर का चारा के व्यवस्था नहीं दीन जात आय। जेहिके बारे मा उनका कहा गा रहै। येत्ती धूप मा किराया के ट्रैक्टर मा गेहूं लइके आय किसान परेशानी झेलत हवै।
बड़ोखर खुर्द ब्लाक के चहितारा गांव का किसान अजय बतावत हवै कि गेहूं गील होय के नाम मा पांच  किलो ज्यादा के कटौती कीन जात हवै। यहिनतान बड़ोखर खुर्द ब्लाक के गांव  से आय किसान नवल किशोर बतावत हवै कि वा दुइ दिन से गेहूं बेचै खातिर हिंया परा हौं। कहत हवै दुइ दिन बाद तउल होइ। मैं किराया का ट्रेक्टर लइके आय हौं वहिमा किराया तौ लागत हवै। इनतान मा मोर बहुतै नुकसान हवै। गेहूं बेचै आय अउर किसान कहिन कि तउल करैं वाले अधिकारी ज्यादातर गायब रहत हवैं ।
डिप्टी आर.एम.ओ.महेश श्रीवास्तव से या व्यवस्था के बारे मा बात कीन गे। उनकर कहब रहै कि केन्द्र मा गेहूं के तउल बराबर करमचारी करत हवैं हां गेहूं कुछ गील रहत हवै, तौ किलो खाड़ ज्यादा तउल कीन जात हवै। केन्द्रन मा जेत्ती छाया के व्यवस्था हवै वोत्ती मिली। किसान बेकार मा हंगामा ठाड़ करत हवैं। सबके तउल समय से कीन जात हवै।