केन्द्र बिना पढ़ाउत बच्चा

जिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, गांव मसूदपुरा। ई गांव में दो केन्द्र चलत हें। जीमें केन्द्र नम्बर एक के लाने तो केन्द्र बनो हे, पे केन्द्र नम्बर दो के लाने कोनऊ केन्द्र नइयां। जीसे ओते की आंगनवाड़ी भगवती केन्द्र की मांग करत हे।
आंगनवाड़ी सहायिका रामकली बताउत हे कि हमाये गांव में दो आंगनवाड़ी केन्द्र चलत हे। एक साल पेहले हम दोनऊ जने एकई केन्द्र में पढ़ाउत हते। अब बच्चा ज्यादा होंय के कारन अलग-अलग बच्चा पढ़ाउत हें। एक आंगनवाड़ी के लाने केन्द्र बनो हे। हमाये लाने केन्द्र नई बनो आय। गांव मे तालाब के एते बनो प्राथमिक स्कूल के एकल कक्ष में बच्चा पढ़ाउत हें। केन्द्र तालाब के एते होंय के कारन आदमी आपन बच्चा तक नई भेजत हें। जभे कि आंगनवाड़ी भगवती ने केऊ दइयां सुपरवाजर खा दरखास दई हे, पे कोनऊ सुनवाई नई भई आय।
प्रधान बैजनाथ को लड़का श्यामलाल ने बताओ कि ज्यादा बच्चा होंय के कारन हमने स्कूल में बच्चा पढ़ाये खा केन्द्र दिबा दओ हतो। अगर ओते भी परेशानी होत हे तो बजट आयें के बाद केन्द्र बनवा दओ जेहे। सुपरवाइजर अरूणा सिंह ने बताओ कि आंगनवाड़ी भगवती को प्रस्ताव आओ हतो। तभई हतने महोबा जिला कार्यक्रम अधिकारी खा पत्र भेज दओ हतो। जभे ओते से पास हो जेहे तो केन्द्र बनवा दओ जेहे।