केंद्र की यूपीए सरकार ने गिनाई उपलब्धियां

Sonia_Gandhi_(cropped)

दिल्ली। साल 2014 में देश में लोकसभा चुनाव होने हैं। केंद्र में दूसरी बार आई कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार ने जनता को अपनी उपलब्धियां गिनानीं शुरू कर दीं हैं। लेकिन इस बीच कई तरह के घोटाले सामने आए।
रिपोर्ट में क्या.
-दिल्ली में 16 दिसंबर, 2012 में हुए बलात्कार के बाद यौन अपराधों के खिलाफ अस्थाई कानून बना।
-खाने मौलिक अधिकार में शामिल करने के लिए खाद्य सुरक्षा विधेयक भी संसद में पेश किया।
-देशभर में स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार के लिए छह नए अखिल भाारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान भी खोले गए।
-शिक्षा केेा बढ़ावा देने के लए 64.5 जूनियर और 7.55 लाख मैट्रिक छात्रवृत्ति शुरू की गईं।

सफलता से ज्यादा असफलता
-महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी (मनरेगा) में सामने आया घोटाला।
-साल 2010 में दिल्ली में हुए कॉमन वेल्थ गेम्स, इसमें दुनिया के कई देशों ने हिस्सा लिया था।
-कोयला खदानों के वितरण में भी हुआ घोटला। खुद प्रधानमंत्री के शामिल होने के भी आरोप।
-फोन कंपनियों से संबंधित 2 जी स्पेक्ट्रम घोटाला भी आया सामने।
-महिलाओं के साथ होने वाले यौन अपराधों को रोकने के लिए बनें अध्यादेश (अस्थाई कानून)में शामिल कई बातों को लेकर महिला संगठन अभी भी नाराज।
– खाने के अधिकार से संबंधित कानून को संसद में तो लाया गया, लेकिन नहीं हो सका पास।
-पी.डी.एस. में गरीबों को मिलने वाली छूट को नकद कर देने की भी हुई आलोचना।
-किसानों के लिए माफ किए गए कर्ज में भी हुआ घोटाला।