कृपया इसे न पढ़ें

(फोटो साभार - विकिपीडिया )
(फोटो साभार – विकिपीडिया )

कमाल है, शीर्षक पढ़ने के बाद भी आप इसको पढ़े जा रहे है । अब बस भी कीजिये। मान जाईये, पन्ना पलट दीजिये। इसके बाद भी अखबार में पढ़ने के लिये बहुत कुछ है। अरे आप तो पढ़े ही जा रहे हैं। देखिये इसे पढ़कर आप अपना बहुमूल्य समय नष्ट कर रहे हैं। जितना नष्ट हो चुका है उसे भूल जाइये और इसे पढ़ना बंद कीजिये। लगता है आप समय की कीमत के बारे में कुछ भी नहीं जानते। अरे भई, इतना सब सुनकर तो नेता भी अपनी गद्दी छोड़कर भाग जाता है। और आप हैं कि इस लेख को पढ़ना नहीं छोड़ सकते। देखिये खबर लहरिया में पढ़ने की सामग्री आपको बहुत मिलेगी इसलिये इसे पढ़ना छोड़ दीजिये। सुनिये, या तो यह पन्ना पलट दीजिये या अपनी आँखे बंद कर लीजिये। देखिये ये कोई चुटकुला नहीं है। जिसे पढ़कर आपको मज़ा आ रहा है। आप का कोई इलाज नहीं हो सकता। लगता है समय के साथ आपकी कोई पुरानी दुशमनी है तभी उसे नष्ट करने पर तुले हुए हैं। आखिर आपने पढ़ ही लिया बताइये आप को क्या मिला इसे पढ़कर। आपका समय नष्ट हुआ कि नहीं, लेकिन इसमें मेरा कोई दोष नहीं है। मैंने पहले ही कहा था। “कृपया इसे ना पढ़ें”