कुरुक्षेत्र आयुष विश्वविद्यालय के कुलपति ने की लिंग आधारित टिप्पणी, हुआ विवाद

साभार: विकिमीडिया कॉमन्स

कुरुक्षेत्र आयुष विश्वविद्यालय के कुलपति बलदेव कुमार धीमन के बयान “आयुर्वेद गर्भधारण से पहले लिंग के चयन में मदद कर सकता है“ को लेकर अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति ने उन्हें तुरंत पद से हटाने और अधिनियम के उल्लंघन के लिए वीसी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की।
गौरतलब है कि एक निजी होटल में आयोजित समारोह में एक पत्रकार ने कुलपति बलदेव धीमान से आयुर्वेदिक विज्ञान की ऐसी तकनीक को लेकर सवाल किया था।
जबकि इस बारे में आयुष यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. बलदेव धीमान ने कहा कि उनकी बात को पूरी तरह गलत तरीके से पेश किया गया। उन्होंने कहा कि पत्रकार ने उनसे आयुर्वेद में लिखी बात के बारे में पूछा था। डॉ. बलदेव ने कहा कि उन्होंने अपनी ओर से कुछ भी नहीं कहा था। वहीं लड़कालड़की दोनों एक समान हैं। यही बात उन्होंने मंच से उक्त कार्यक्रम में भी कही थी।