कुपोषण से 2 महीने में 13 मौतें!

14441022_1189601321096648_6342409884780494933_nभारत के सबसे औद्योगीकृत राज्य, महाराष्ट्र के नंदुरबार और यवतमाल ज़िले में पांच साल के कम उम्र के लगभग आधे बच्चे अविकसित यानि कुपोषित हैं। आंकड़ों को देखें तो नंदुरबार में 47.6 फीसदी और यवतमाल 47.4 फीसदी बच्चे कुपोषित हैं।
मुंबई से मात्र 100 किमी से भी कम दूरी पर पालघर के आदिवासी जिले में पिछले दो महीनों में हुई 13 मौतें एक बार फिर महाराष्ट्र में बड़े पैमाने पर कुपोषण के कहर को बताती है।
गढ़चिरौली ज़िले में पांच साल से कम उम्र के करीब 22.2 फीसदी बच्चे हैं। नंदुरबार जिले में 55.4 फीसदी बच्चे कम वज़न के हैं। यह दर मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के बराबर है, जहां भारत में सबसे अधिक कुपोषण के मामले दर्ज किए गए हैं।

साभार:इंडिया स्पेंड’