किसानों ने निकाली हल्ला बोल रैली, बड़ी संख्या में जुटे मजदूर और किसान

साभार: फेसबुक

केंद्र सरकार के खिलाफ वाम दलों से समर्थन प्राप्त मजदूरों और किसानों ने 5 सितंबर को रामलीला मैदान से संसद मार्ग तक केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोल रैली निकाली।

संसद मार्ग पर हुई सभा में बढ़ती महंगाई पर लगाम लगाने, श्रम-कानूनों को सख्ती से लागू करने, न्यूनतम मजदूरी, रोजगार मुहैया कराने, फसलों के उचित दाम देने की मांग की गई।

मजदूर-किसान संघर्ष रैली में देशभर से लोग पहुंचे। आशा वर्कर्स भी धरने-प्रदर्शन में शामिल हुईं। रैली का आयोजन सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन (सीआईटीयू), ऑल इंडिया किसान सभा (एआईकेएस) और ऑल इंडिया एग्रीकल्चर वर्कर्स यूनियन (एआईएडब्ल्यूयू) के नेतृत्व में किया गया।

किसानों ने नौकरियों में भर्ती पर रोक हटाने, सबको बेहतर रोजगार देने, न्यूनतम मजदूरी 18 हजार देने की मांग रखी। उन्होंने केंद्र सरकार की नीतियों को मजदूर व किसान विरोधी बताया।

सभा का संचालन सीआईटीयू अध्यक्ष कॉमरेड हेमलता ने किया। मंच से दर्जनों संगठनों ने अपनी-अपनी मांगें रखीं। कलाकारों ने प्रदर्शनकारियों में जोश भरा।