किशोरी सशक्ति योजना 2010 से लागू, पर चित्रकूट के मऊ ब्लाक, ओबरी मजरा गांव में पोषण नहीं मिल रहा है

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, ओवरी मजरा सन 2010 मा राजीव गाँधी किशोरी शक्ति योजना चलाई गे रहै जेहिमा 11 से 18 साल के लड़कियन का पोषाहार मिल सकै पै या गांव के लड़कियन का दुइ महीना से पोषाहार नहीं मिलत आय।जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, ओवरी मजरा सन 2010 मा राजीव गाँधी किशोरी शक्ति योजना चलाई गे रहै जेहिमा 11 से 18 साल के लड़कियन का पोषाहार मिल सकै पै या गांव के लड़कियन का दुइ महीना से पोषाहार नहीं मिलत आय। गुड़िया अउर छुटकी बताइन कि आंगनबाड़ी बच्चन का अउर लड़कियन का कउनौ का पंजीरी नहीं देत आय।आगंनबाड़ी कहत हवै कि जबै हमें हुंवा से पंजीरी मिली तबहिने देबै।कबै पंजीरी मिलत हवै कबै खतम होइ जात कुछौ पता नहीं चलत आय।आंगनबाड़ी गरीबन का एकौ पैकेट पंजीरी नहीं देत आय  बड़े मड़इन का दुइ–दुइ पैकेट पंजीरी देत हवै।आंगनबाड़ी इंद्रावती िद्वेवेदी बताइस कि पोषाहार कत्तौ 8 बोरी तौ कत्तौ 12 मिलत हवै वहै हिसाब से मड़इन का दीन जात हवै। बाल विकास अधिकारी का कहब हवै कि लड़कियन खातिर दुइ महीना से पोषाहार नहीं आवत आय।

रिपोर्टर- सुनीता देवी

27/06/2017 को प्रकाशित