का? हो पेहे समस्या दूर

(फोटो साभार: विकिपीडिया)
(फोटो साभार: विकिपीडिया)

बुन्देल खण्ड में अब विधानसभा चुनाव के लाने दौरा परन लगो हे। 23 जनवरी खा राष्ट्रिय कांगे्रश अध्यक्ष राहुल गांधी ने सूखे खा लेके 8 किलोमीटर पद यात्रा करी हती। साथे 27 जनवरी खा उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी बुन्देलखड आये हते।
सोेचे वाली बात जा हे की सही में नेता बुन्देलखण्ड की हालत जाने आउत हे की आपन राजनीति बनाउब आउत हे। भाषण मे एक दूसरे की बुराई करत हे। ओर योजना बता के जनता खा लुभाउत हे। आपन काम से पेहले सब कोनऊ आउत हें, पे काम निकरें के बाद सब भूल जात हे। जनता भी मीठी-मीठी बातन में आ जात हे। पे ई साल के सूखा ने आदमियन खा झगझोर के धर दओ हे। खायें ओर पियें के लाने दर-दर भटकत हे। गरीबन खा कोनऊ सरकारी योजना को लाभ नईं मिलत हे। जीसे जनता में बोहतई गुस्सा हे। का ई दइयां नेता जनता में आपन विश्वास बना पेहे। का 2017 से पेहले जनता की समस्या ओर मांगे पूरी हो पेहे? बुन्देलखण्ड की सच में बोहतई खराब हालत हे। एई से जनता खा लगत हे की जा मुद्दा राजनीती में तू-तू में-में न रह जाये।