का होइ पढ़ाई का, स्कूल मा पी.ए.सी

taja photo ficture ke leyeजिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव ददरीमाफी। हिंया पूर्व माध्यमिक विद्यालय मा लगभग बीस साल से पी.ए.सी. पुलिस परी हवै। अब या बात सउहें आवत हवै कि विद्यालय मा पढ़ैं वाले बच्चन के पढ़ाई मा असर परत हवै। एक कइती सरकार कहत हवै कि हर बच्चा पढ़ लिख के आगे बढ़ै। यहिके खातिर सरकार कत्तौ रैली निकारत हवै तौ कत्तौ अभियान चलावत हवै? का यहिनतान के स्थिति मा हर बच्चा पढ़ पाई? का सरकार पी.ए.सी. का रुकै खातिर अउर कउनौ दूसर जघा मा व्यवस्था नहीं कइ सकत हवै?
चित्रकूट जिला। हिंया कड़ाके के ठंडी परत हवैै। सबसे ज्यादा परेषानी तौ उंई मड़इन का हवै जेहिके पास जिनके पास रहै अउर बिछावैं खातिर कुछ भी नहीं हवै। सरकार कुछ जघा कम्बल तौ बंटवाइस हवै, पै का एक एक कम्बल से येत्ती गलन वाली ठण्ड कट सकत हवै। या आग के सहारे लोग केत्ते दिन गुजरिहैं।