का पूरा हो पेहे वादा?

(फोटो साभार: हिन्दू)
(फोटो साभार: हिन्दू)

सपा सरकार को चलाओ गओ योजना महिला ओर सुरक्षा नाकाम होत साबित हो रहो हे। जभे से जा योजना शुरू भई तभे से अगर गिने जाये तो अनगिनत महिला के साथे छेड़खानी, बलात्कार जेसे केश सामने आये हे।

ताजा उदाहरण-16 अगस्त खा जैतपुर ब्लाक के एक गांव में दलित महिला के साथे छेड़खानी 5 अगस्त खा 14 साल के लड़की के साथे साथे बलात्कार भओ। सबसे बड़ी बात तो जा हे सपा पार्टी के ही लोगो ने हमीरपुर में लड़की के साथे छेड़खानी करी, जीसे लड़की ने मिट्टी को तेल डार के आत्महत्या कर लई। जोन आज तक शान्त नई भओ हे। अब सवाल जा उठत हे कि एसी स्थिति खा देख के लगत हे कि चलाई गई योजना से ऐसे के केस में रोक लगायें के बदले बढ़ायें के लाने बनी हे।
ई केस के जिम्मेंदार कोन हे? का कहे बस से महिला की शिक्षा ओर सुरक्षा अंगाऊ के लाने हो पेहे? ईखे लाने सरकार खा बोहतई सोच ओर काम करें की जरूरत हे। नई तो कहे बस के ले लाने कोनऊ योजना नई बनाये खा चाही?
काय से कहे से बस महिला की सुरक्षा नई हो सकत हे। का कारन हे कि महिला आज भी हर तरह की हिंसा सहत रहत हे। इत्ते योजना ओर विवस्था के कारन भी हिंस्सा रोके को नाम नई ले रही हे। एक केती तो महिला खा आगांऊ बढ़े की बात करत हे, पे बढ़े से पेहले ही बीच में केऊ तरह के बांधा पर जात हे। एई से सरकार खा कोनऊ भी योजना अधिकार बनायें के बाद एक दइयां पलट के देखे खा चाही। तभई जा समस्या दूर हो सकत हे। ई सब सवालन को जबाब अपने अधिकारियन से मांगे खा चाही?सपा सरकार को चलाओ गओ योजना महिला  ओर सुरक्षा नाकाम होत साबित हो रहो हे। जभे से जा योजना शुरू भई तभे से अगर गिने जाये तो अनगिनत महिला के साथे छेड़खानी, बलात्कार जेसे केश सामने आये हे।