कावेरी जल विवाद के चलते तमिलनाडू के मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री बैठे भूख हड़ताल पर

साभार: विकिपीडिया

कावेरी जल विवाद के चलते तमिलनाडू के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी और उप-मुख्यमंत्री पनीरसेल्वम भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। केन्द्र सरकार पर कावेरी प्रबंधन बोर्ड के गठन के लिए दबाव बनाने के लिए मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री इस हड़ताल पर बैठे हैं। कावेरी प्रबंधन बोर्ड के गठन के लिए केंन्द्र सरकार पर दबाव बनाने के लिए सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक ने घोषणा पहले ही कर दी थी। कावेरी मुद्दे को लेकर द्रमुक पार्टी के एम के स्टालिन अन्नाद्रमुक सरकार पर हमलावर होती जा रही है, वह पलानीस्वामी पर इस मुद्दे पर नाटक करने का आरोप लगा चुके हैं।
तमिलनाडु सरकार की जल्द सुनवाई की मांग पर मुख्यन्यायाधीश दीपक मिश्रा ने कहा कि वह तमिलनाडु की समस्या समझते हैं, हम तमिलनाडु को उसके हिस्से का पानी मिलने और इस मुद्दे का हल निकालेंगे। उच्च न्यायालय ने कावेरी नदी पानी में तमिलनाडु का हिस्सा कम कर दिया है, लेकिन राज्य की पेयजल की जरुरत को हल करने के लिए नदी बेसिन से 10 टीएमसी फुट तक जल निकालने की स्वीकृति दे दी थी।