कालोनी अधूरी, खराब होत गृहस्थी

k chat-2जिला चित्रकूट, रामनगर, गांव देऊंधा। हिंया के शकुंतला का इन्द्रा आवास के तहत पैतिस हजार के दूसर किस्त नहीं मिली। यहिसे वा 3 अक्टूबर का डी.एम. नीलम अहलावत का लिखित दे आई रहै, पै डी. एम. के न मिलै से बिना लिखित दे अपने गांव लउट गई।
शकंुतला का कहब हवै कि जनवरी 2014 मा इन्द्रा आवास के तहत कालोनी मिली रहै। एक किस्त का पैंतिस हजार रुपिया मिल गा रहै तौ दीवार ठाढ़ होइगे हवैं। छत डरावंै का हवै तौ दूसर किस्त का रुपिया नहीं मिलत आय। मोर गृहस्थी लकड़ी, कंडा पानी बरसत हवै तौ सबै भीग जात हवैं। बूढ़ मेहरिया हौं। कउनौ कमाये वाला नहीं आय कि अपने से छत डरवा सकौं। प्रधान चन्द्रकली का मनसवा कैलाश कहिस कि अबै दूसर किस्त का रुपिया नहीं आवा आय।
रामनगर ब्लाक के बी.डी.ओ. राकेश सोनी कहिन कि अबै सरकार कइती से रुपिया नहीं आवा। यहिसे नहीं दीन गा हवै।