कारवाही के करत मांग

BI

जिला बांदा, ब्लाक बिसण्डा, गांव साथी। हेंया 26 फरवरी 2006 – 7 मा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बना रहै। जेहिमा राजकीय निर्माण लिमिटेड इकाई से ठेका दइके काम करवा गा रहै। वहिमा बहुतै खराब मसाला लगवा गा रहै। यहिके जांच भी अधिकारी करिन हैं। जांच भे, पै कारवाही के नाम मा कुछ नहीं भा आय।
गांव का रहैं वाला शिवकुमार कहिस-“ हमरे गांव मा अस्पताल बनै खातिर सपा सरकार से पचास लाख बजट आवा रहै। जेहिका लगभग पैतिस परसेन्ट रूपिया अस्पताल के निर्माण कार्य मा लगावा गा है। बाकी के पचपन परसेन्ट रूपिया मा घोटाला कीन गा है। यहिसे अस्पताल मा सही ढंग से मसाला न लागै के कारन अस्पताल की दीवारें टेड़ी मेड़ी अउर फटी हैं। या कारन बरसात का पानी भी अस्पताल के भीतर घुसत है। गांव मा अस्पताल के सुविधा होंय के बाद भी मरीजन का भटकैं का परत है। यहिसे हम ठेकेदार अउर उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के ऊपर कारवाही के मांग करित हन। बांदा सी.एम.ओ आर.बी. अग्रवाल बताइन कि वा अस्पताल के जांच कइके शासन का लिखा गा है। होंआ कारवाही होंई।”