कारवाही करै का दिहिन भरोसा

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव कोटरा खाम्भा, दलित बस्ती। हिंया के सतिनिया कहिस कि प्रधान नाली अउर खड़ण्जा बनवावत हवै जबै कि हिंया नाला बनै का चाही नहीं तौ पहाड़ का पानी घरन के भीतर भरी। यहिसे घर गिर जइहैं। सतिनिया या भी कहिस कि नाला बनवावैं खातिर प्रधान शशि त्रिपाठी से कहेंव पै नाला नहीं बनवावत हवै। यहिके खातिर मऊ तहसीलदार कतवारूराम का लिखित दीनेंव उंई जांच करैं आय तौ मनसवा शंकर लाल का 9 जुलाई का गाली दिहिन अउर मारिन हवैं।

तहसीलदार के खिलाफ दरखास दें कर्वी कलेक्टंेट मा डी. एम. के हिंया गयेंव, पै सुनवाई नहीं भे। गांव के श्याम सुन्दर, सुनीता, प्रकाश अउर छोटकू का कहब हवै कि प्रधान शशि त्रिपाठी नाली बनवावत हवै। जबै कि नाला बनब जरूरी हवै। हिंया लगभग पचास घर हवैं, पै घर गिरै के समस्या सबहिन से ज्यादा पांच घरन के हवै। बरसात का पानी बहिके अई। घर मा भरी अउर हमार घर गिर जइहैं। हम गरीब मड़ई आपन घर दुबारा से कसत बनवइबे।

प्रधान शशि त्रिपाठी के मनसवा शिवाकांत का कहब हवै कि मड़ई नाली नहीं बनवावैं देतहवैं अउर नाला बनवावैं खातिर बजट नहीं आय। मऊ तहसीलदार कतवारूराम का कहब हवै कि मैं मड़इन का समझावैं खातिर गये रहांै। कउनौ का गाली नही ंदीने हौं अउर न कउनौ के साथै मारपीट करे आहूं। मड़ई झूठै आरोप लगावत हवंै। डी. एम. नीलम अहलावत कहिन कि या मामला के जांच चलत हवै। यहिके बाद कुछ होइ।