काम के मांग खातिर दिहिस दरखास

IMG3290AIMG3291Aजिला बांदा, कस्बा नरैनी, मोहल्ला शास्त्री नगर। हेंया का अनिल सन 1985 से नगर पंचायत मा लाइन मैन के पद मा काम करत रहै। काम के समय वहिका गोड खराब होइगा। सीढ़ी न चढ़ पावैं लाग या कारन नगर पंचायत वाले तीन साल से वहिका हटा दिहिन हैं। काम के मांग खातिर 2 दिसंबर का नरैनी तहसील अउर नगर पंचायत मा दरखास दिहिस है।
अनिल अउर वहिके पत्नी सुधा का कहब है-“मैं नगर पालिका मा प्राइवेट बिजली का काम करत रहौं। 2004 मा संविदा के तहत काम करैं खातिर आदेश होइगा रहै। बिजली का काम करैं मा गोड खराब होय के कारन छुट्टी लई लीने रहौं। अब काम नहीं देत आय। मई, जून 2014 मा काम कीने हौं तौ रूपिया नहीं मिला आय। यहिके खातिर मैं दुई साल पहिले लखनऊ नगर पालिका विभाग मा अउर 6 महीना होइगे बांदा डी.एम. का दरखास दीन हौं, पै कउनौ सुनवाई निहाय।”
नरैनी नगर पंचायत ई.ओ. बी.डी. मौर्य कहत हैं कि अनिल संविदा मा नहीं रहा आय। प्राइवेट काम करत रहा है। जबै से गोड खराब भा वा काम करैं नहीं आवा आय। यहिसे दूसर लाइनमैंन काम करत है। हमरे हेंया अनिल के काम का कउनौ रूपिया बाकी निहाय।