कहूं कुल्हाड़ी से तो कहूं बन्दूक से करो घायल

रतनलाल
रतनलाल

जिला महोबा, ब्लाक कबरई। ई ब्लाक खे अलग-अलग गांव में लड़ाई भई हे। जीमें जान से मारे खे कोशिश करी हे। कबरई ब्लाक खे बरातपहाड़ी गांव खंे रहे वाले रतनलाल के बाप हरनरायन ने बताओ कि हमाई कोनऊ से लड़ाई नइयां। हम सोउत हते, तभई धनश्याम, रामदास ओर ब्रजेन्द्र आ खे हमे गाली-गलौज ओर मारपीट करन लगे। मोए कुल्हाड़ी मार दई हे, जीसे बोहतई चोट आई हे। कहत हे कि तुमने हमाए भाई किशोरी खे भड़काओं हे। एई से ऊ हमें निकरन नई देत ओर रास्ता में कांच डार देत हे। जीसे हमने महोबा कोतवाली में रपट लिखवाई हे।
रामदास की बहू आरती ने बताओं कि हमाए चाचा किशोरी ओर हमाओ एकई निकास हे। जीसे चाचा ऊ रास्ता से नई निकरन देत रास्ता में कांच डार देत हे। लड़ाई हमाए चाचा किशोरी से भई हे, ऊ बीच में हे आ गए हते।
महोबा कोतवाली एस.ओ. ओमप्रकाश तिवारी ने बताओ कि रामदास पकर गओ हे। मारपीट की धारा-307 लगी हे।
एसई एई ब्लाक खे लिलवाही गांव मे खपरा पाथे की माटी खां लेके लड़ाई भई हे। जीमें छुट्टू ने फायरिंग करके चुनका खें जान से मारे खे कोशिश करी हें। चुनका की ओरत दयारानी ने बताओ कि हम खपरा पाथे खे परसाहा नदी खे ग्राम समाज की जमीन से माटी लाए हते। जीमें छुट्टू पांच हजार रूपइया मांगत हतो। नई दए तो 24 मई 2013 खे सबेरे खलिहान में खपरा पाथत हते। तभई राजू, कमलेष, नब्बी ओर छोटभइया लाठी डण्डा से मारन लगे। मोओ आदमी छूट खे भागो तो छुट्टू ने फायरिंग करी जीसे झाडि़यन के ऊमे बच गओ हे। ईखी रिपट हमने कबरई थाना में दई हें।
छुट्टू ने कहो कि में परसाहा में खेती लए हो। चुनका मोए खेत से माटी लाओ हे। एई से मेने रूपइया मांगे हते। ऊ मोए गाली गलौज करन लगो बस एई बात खा लेके लड़ाई भई हे। फायरिंग कोनऊ ने नई करी आय।
कबरई थाना के एस.ओ. अषोक कुमार सिंह ने कहो कि ऊखी रपट आ गई हे। पे मुकदमा नई लिखो गओ हे।

चुनका को परिवार
चुनका को परिवार