कहीं सूखीं तो कहीं डूब गईं फसलें

kshetriya lucknowजिला फैजाबाद ब्लाक मया और जिला अम्बेडकरनगर ब्लाक भीटी। मया ब्लाक के भटपुरवा के पास 20 मार्च 2013 को नाला कट जाने से फसल बर्बाद हो गयी। दूसरी तरफ भीटी ब्लाक की तीस ग्राम पंचायतों के सभी सरकारी ट्यूबवेल का जल स्तर गिरने से वहां की फसलें सूख गयी हैं।

भटपुरवा के ध्रुव कुमार, अमरजीत ने बताया कि बारह फीट चैड़े नाले का किनारा कमजोर हो गया था। पानी ज्यादा आने से नाला कट गया। पांच सौ बीघे खेंतों में पानी भर जाने से मेथी, लाही, चना, मटर, सरसों, गेहूं की फसलें बर्बाद हो गयीं। नहर विभाग के अभियन्ता वी.डी. भास्कर ने बताया कि नहर गांव के ही किसी व्यक्ति ने काटी थी। जबकि गांव वालों के अनुसार नाला कटने का कारण विभाग द्वारा इसकी सफाई न करवाना है।
दूसरी तरफ भीटी ब्लाक के मझुई नदी के किनारे तलहटी में बसे गांवों के ट्यूबवेल पिछले तीन महीने से सूखे पड़े हैं। यहां के विजय यादव, दिनेश कुमार और रणविजय सिंह ने बताया कि फसलों की सिंचाई के साथ पीने के पानी का संकट भी खड़ा हो गया है।

भीटी खण्ड विकास अधिकारी महेष नारायण पाण्डेय ने बताया कि इसकी जानकारी जल निगम को दे दी गयी है। उधर जल निगम के अधिषासी अभियन्ता ए.सी. दिवेदी के अनुसार विभाग के पास ऐसी कोई जानकरी नहीं है।