कहते हैं इंडिया डिजिटल हो रहा है पर झांसी के चौका पाठा गाँव में सड़कें तक नहीं हैं

जिला झांसी, गांव चौकापाठा डिजिटल इंडिया से आधुनिक भारत बनाबे को सपना देखबे वाले गांव को भी संचार क्रांति से जोड़बो चाह रए। और जा अभियान को सफल बनाबे के लाने रुपइया पानी के जैसे बह रओ। आजादी के सत्तर साल होबे के बाद भी झांसी जिला के चौका पाठा गांव में बिजली और सड़क की सुविधा ही नइया।
बिजली न होबे के मारे गांव के आदमी अपनों फोन चार्ज करबे के लाने एक किलो मीटर दूर राजगढ़ जात। संगे आदमियन के घर में रखो बिजली को सामान जंग खा रओ। जा गांव में चार पीढ़ी रती उन ने बिजली नइ देखी गांव के मोड़ी मोड़ा आज भी दिया में पढ़बे के लाने मजबूर हे।
गांव की जई परेशानी को देख के आदमी गांव छोड़ के शहर जा रए। एसो भी नइया के गांव के आदमियन ने अपनी समस्या से अधिकारी और मंत्रीयन को अवगत नइ करो होबे। समस्या बताबे के बाद भी समस्या बैसी की बैसी हे।
शिवदयाल ने बताई के इतेई हमाओ जन्म भओ सौ साल हो गयी गांव में रत रत कोनऊ सुविधा नइ भई आ जात झूठो आश्वाशन देके चले जात।
जयचंद्र ने बताई के हमाई तीन पीढ़ी निकर गई लेकिन बिजली नइ आई। शशी देवी ने बताई के डॉक्टर कह रए ते के खुजली हे लेकिन हमे मलेरिया हे मच्छर के बजे से गांव में बिजली नइया सो कूलर पंखा कछू नइ चला पात।
सुदर्शी ने बताई के हमाय भज्जा को मलेरिया हो गओ तो सो ख़त्म हो गये। न बिजली हे न सड़क हे मोड़ी मोड़ा भी पढ़ लिख नइ पा रए।
साक्षी और अनुराग ने बताई के सबके गांव में बिजली हे हमाय गांव में बिजली नइया। हमाई कक्षा के बच्चा होशियार हे हम ओरे बिजली के मारे पढ़ नइ पात। हम आई एस ऑफिसर बनबो चाह रए। मट्टी को तेल जलात बो भी नइ मिलत तो डीजल जलात।
रामवती ने बताई के मोड़ी मोड़न के पढ़बे की तैयारी कर रए मट्टी को तेल जलात बो भी नइ मिलत तो डीजल को फिरत बाके उजेरे में पढ़त मोड़ी मोड़ा।
भवानी सिंह ने बताई के परेशान होके दरखास दई ती मुख्यमंत्री जी को उन ने आदेश दओ तो एक झांसी ऑफिस के लाने एक हमाय पास आओ तो। ऑफिस वालिन ने जबाब देहि कागज नइ बनबाओ उन ने कई ती विधायक निधि से तीन लाख रूपइया आ रओ जो सांसद निधि हो या विधायक निधि से रूपइया तैयार होबे तो हम तुरंत लाइट लगा देहे। पंद्रह बीस दिन भाग दौड़ करी बरसात में सर्वे करी इते से लाइन डर हे इते खम्भा लग हे।
वीरेन्द्र एस डी ओ ने बताई के पिछले शासन में पूर्व मुख्यमंत्री अखलेश यादव जी की तरफ से एक लैटर आओ तो और हमने बिजली विभाग एस डी ओ और जेई के संगे जाके मुआनो करो और उते की समस्या से अवगत कराओ लेकिन अबे तक कछू हो नइ भओ। केऊ आर हमने अधिकारियन को भी सूचित करो के उते बिजली की सुविधा नइया।
अरुन प्रकाश नगर पंचयात ने बताई के सड़क के बारे में कोनाऊ जादू की छड़ी नइया के तुरंत बन जाय। सड़क को तरीका होत पहले नाप हुए ठेका हुए बाके बाद बन हे हमाय क्षेत्र में हे के नइया बहुत चीजे देखने परती।
पंकज अग्रवाल अधिशाषी अभियंता ने बताई के मुख्यमंत्री के ते से पहले फंड मांगो गओ तो फंड नइ आओ।

रिपोर्टर- सोनी

16/05/2017 को प्रकाशित