कल्लू तो चला गया लेकिन क्या उसके परिवार वालो को मिलेगी मदद? आइए देखेते हैं चित्रकूट की ये कहानी

चित्रकूट जिला के रामनगर ब्लाक के सिकरी गांव के सफाईकर्मी कल्लू प्रसाद के 10 जनवरी 2018 का बीमारी के कारन मउत होइगें हवै। वहिके मउत का एक महीना होय के बादौ वहिके परिवार का कउनौ सुविधा नहीं मिली आय।
कल्लू के मेहरिया शिल्पा देवी का कहब हवै कि दूनौ गुर्दा मा पथरी रहि हवै, तबै पथरी का आपरेशन करावा गा रहै। चार साल बाद फेफड़ा मा पानी भर गा रहै तौ वहिके दवाई कराये हौं। भाभी उर्मिला देवी का कहब हवै कि जात-परजात सबै से रुपिया मांग-मांग के इलाज कराये हन। लड़का राजा कुमार बताइस कि 2009 मा जानकीकुंड के अस्पताल मा मोर बाप का पथरी का आपरेशन कीन गा रहै, वहिके बाद पता चला गुर्दा खराब हवै। यहै कारन उनकर मउत होइगें हवै। सचिव जांच खातिर आये रहै।
जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय के सह आयुक्त जगदीश वर्मा का कहब हवै कि कल्लू के परिवार वाले हिंया आये रहै। नौकरी खातिर जउन कागज लागे का हवै, वहिके जानकारी दइ दीन गे हवै। जबै कागज देहैं, तबै आगे के कारवाही होई।

रिपोर्टर- सहोद्रा

Published on Feb 26, 2018