कलेक्ट्रेट मा लेखपालन का धरना

कलेक्ट्रेट के भीतर जिला निर्वाचन कायालय के सउहें धरना
कलेक्ट्रेट के भीतर जिला निर्वाचन कायालय के सउहें धरना

जिला बांदा। 30 सितंबर 2014 का जिला भर के लेखपाल अउर लेखपाल संघ के कार्यकर्ता चार सूत्रीय मांगन का लइके धरना करिन। साथै डी.एम. के माध्यम से मुख्यमंत्री का ज्ञापन दिहिन। या धरना बुन्देलखण्ड के सबै जिलन मा कीन गा रहै। 16 सितंबर 2014 का इनहिन मांगन का लइके जिला के पांचै तहसीलन मा धरना करिन रहैं।
कलेक्ट्रेट के भीतर जिला निर्वाचन कार्यालय के सउहें बइठ धरना मा लगभग एक सैकड़ा लेाग शामिल रहैं। धरना के अगुवाई करंै वाले जिला लेखपाल संघ के अध्यक्ष चन्द्रभूषण कहिन कि जबै तक सरकार हमार मांग न पूरा करी तबै तक धरना चलत रही। अब राजधानी लखनऊ का घेराव करैं के तैयारी है। डी.एम. सुरेश कुमार प्रथम कहिन कि उंई लेखपाल के मांग का ज्ञापन मुख्यमंत्री तक भेज देहैं।

लेखपालन के चार मांगै इनतान हैं

1-लेखपालन का वेतन, वाहन भत्ता, स्टेशनरी भत्ता दूसर राज्य पंजाब, हिमांचल, हरियाणा अउर उत्तराखण्ड के जइसे होय का चाही।
2-1398 नये राज्स्व निरीक्षक के पद का भरा जाय अउर 800 पद मा बढ़ोत्तरी कीन जाय। 3-1898 राजस्व निरीक्षक के पद जबै तक भर न जाय तबै तक एक हल्का (काम के जघा) से ज्यादा काम करैं वाले लेखपाल का वेतन बढ़ावा जाय।
4-लेखपाल पद के शैक्षिक योग्यता बढ़ा के बी.ए. कीन जाय। साथै लेखपाल पद के भर्ती करैं के जिम्मेदारी डी.एम. का दीन जाय।