कर्नाटक को छोड़कर, 69 फीसदी भारतीय भाजपा शासित राज्यों में रह रहे हैं!

फोटो साभार: विकिमीडिया कॉमन्स

अगर भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक में अगली सरकार बनाती है, तो भाजपा पार्टी 29 राज्यों में से 20 राज्यों पर शासन करेगी।
24 मई, 2014 में सत्ता में आने पर सात राज्यों में बीजेपी पार्टी का शासन था।
अगर कर्नाटक में भाजपा की सरकार बनती है तो, भारत के 1.2 बिलियन लोगों में से दो तिहाई से अधिक या 836 मिलियन (69 फीसदी) लोग तब भाजपा शासित राज्यों में रहेंगे।
ये आंकड़े मई 2014 में 340 मिलियन (28.1 फीसदी) थे।
यह 1980 में राज्य बनने के बाद से राष्ट्रीय सत्तारूढ़ दल की सर्वोच्च पहुंच होगी।
वर्तमान में, 29 राज्यों में से 19 राज्यों में भाजपा की सरकार है। ये राज्य हैंअरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मूकश्मीर, झारखंड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, नागालैंड, राजस्थान, त्रिपुरा, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश।
15 मई, 2018 को 36.5 फीसदी साँझा वोट के साथ भाजपा ने 20 सीटें जीती थीं और कुल 222 सीटों में से 86 में अग्रणी रही थीं। यह पार्टी के 1985 में पहली बार राज्य विधानसभा चुनाव लड़ने के बाद से 33 वर्षों में उच्चतम रहा है। दो सीटों के चुनावराजराजेश्वरनगर और जयनगर को स्थगित कर दिया गया है।
कांग्रेस ने 2004 के बाद से अपने उच्चतम वोटशेयर (37.9 फीसदी) दर्ज किए हैं। फिर भी, राज्य में मौजूदा पार्टी ने 1.41 बजे तक चार सीटों पर जीत दर्ज के साथ 71 सीटों पर आगे बढ़ रही थी।
क्षेत्रीय पार्टी जनता दलसेक्युलर (जेडीएस), जो बेंगलुरु नगर निगम (राज्य में सबसे अमीर नागरिक निकाय) में कांग्रेस के साथ संबद्ध है, 38 सीटों में अग्रणी था और 1.41 बजे तक एक सीट जीती थी। इसके 18 फीसदी वोट शेयर, 2013 के चुनाव (20.2 फीसदी) में पार्टी के प्रदर्शन से कम था।
13 मई, 2018 को मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि कर्नाटक में राज्य चुनाव पहली बार 1952 में आयोजित होने के बाद से इस 2018 राज्य विधानसभा चुनाव में 35.6 मिलियन वोटों के साथ, 72.1 फीसदी पर कर्नाटक ने अपने उच्चतम मतदान दर्ज किया है।