कर्ज माफ़ करने के लिए कहा गया था लेकिन यहाँ तो ब्याज लगा दिया गया है- बांदा जिले के किसान

जिला बांदा। 24 अक्टूबर का नरैनी तहसील मा फसल ऋण माफी का तीसरा चरण रहा है पै का या ऋण माफी से किसान सन्तुष्ट नहीं आय हेंया सैकड़ों किसान फसल ऋण माफी का प्रमाणपत्र लें आयें हैं
किसान ओमप्रकाश कुशवाहा बताइस कि मुख्यमंत्री एक लाख कर्ज माफ करै का कहिन रहै पै पचास हजार कर्जा ले मा भी ब्याज जोड़त हैं मेडा बताइस कि जबै कर्ज माफी का प्रमाणपत्र मिला तौ बैंक वाले  बताइन कि यहिमा ब्याज जुड़ी है
दिनेश बताइस कि मैं निन्यानवे हजार कर्जा लीने हौं कर्जा माफ करै के जघा सरकार ट्यूबवेल लगवा देत तौ कर्जा न ले का पड़त समय से पानी मिलत तौ किसान सूखा मुक्त होइ जात
शंकर बताइस कि कर्ज तौ माफ करिन है पै वहिमा ब्याज लगा दिहिन हैं
सांसद भैरो प्रसाद मिश्र का कहब है कि बुन्देलखण्ड मा जमीन ज्यादा है पैदावार कम है यहै कारन किसान छूट जात हैं छत्तीस हजार करोड़ रूपिया किसानन के कर्जा माफ करै खातिर दीन गा है

बाईलाइन-मीरा देवी और गीता देवी

30/10/2017 को प्रकाशित