करारे शॉट से करारी बातों तक का सफ़र! जानिए डायना एडुल्जी को

फोटो साभार: विकिपीडिया

डायना एडुल्जी जन्म– 26 जनवरी 1956 को हुआ. वह एक पूर्व भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी है जो भारत की राष्ट्रीय महिला क्रिकेट टीम के टेस्ट और एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेला करती थी। डायना भारतीय महिला टीम की कप्तान भी रह चुकी है।

डायना को खेलों के सबसे बड़े पुरस्कार अर्जुन पुरस्कार से 1983 में और 2002 में उन्हें पद्म श्री पुरस्कार से नवाजा गया था। डायना की गेंदबाजी को देखते हुए उन्हें ‘महिला क्रिकेट की बिशन सिंह बेदी’ भी कहा जाता था।  

उन्होंने 1976 में बेंगलुरु में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर का आगाज किया था, जिसमें भारत ने ड्रॉ खेला था। भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ छह मैचों की अपनी पहली टेस्ट श्रृंखला 1-1 से बराबरी पर समाप्त की थी। भारतीय टीम ने पटना में चौथे टेस्ट में जीत दर्ज की थी।   

डायना 1984 से 1986 तक न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखलाओं में भारतीय टीम की कप्तान रहीं। इसके बाद उन्होंने 1977-78, 1984-85 से 1993 तक भारतीय एक दिवसीय टीम की कमान भी संभाली। इस दौरान टीम ने 18 वनडे खेले, जिसमें भारत ने सात में जीत दर्ज की। उन्होंने तीन विश्व कप में शिरकत की जिसमें से दो में उन्होंने टीम की अगुवाई की।  

हाल ही में उन्होंने बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष श्रीनिवासन के खिलाफ अपने विचार रखे जिसके कारण वह फिर सुर्ख़ियों में बनी हुई हैं। उन्होंने बीसीसीआई की पित्रसतात्मक सोच की कठोर निंदा , की, और कहा की ऐसे कई अधिकारी हैं, जो महिलाओं के बेहतरीन खेल से खुश नहीं हैं।