करब अपन गलती के सुधार

kजिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड सोनवरसा, गांव घुरघुरा। उहां के रूनची देवी के शादी भेला दस साल हो गेलई। उनका दुगो बेटा , बेटी हई। लेकिन आई तक उनकर परिवार के लोग उनका ठिक से न रखलथिन बहुत शोषन करईत रहलथिनह। 7 नवम्बर 2013 के उनका बेटी भेलई जेइमें उनका खर्चा जोड़के उनकर पति न देलथिन। जब समान मांगलथिन तब उनकर पति मार पीट के माथा फोर देलथिन। लेकिन एकर समझौता समाज अउर महिला समुह मिल के कलथिन।
रूनची देवी कहलथिन कि बरमहल बाद विवाद के लेके हम नई हर रहईत रहली। कुछ दिन दिन पहिले अइली तब घर में झंझट होईत रहलक तब हम दुरा पर चल गेली। उहां कहियो गारजियन खर्चा देईत रहलक तब खाना बनबईत रहली। जहिया न मिलईत रहलक तब हम दोसर से मांग के खाना बनबईत रहली। यही सब कहे पर हमर पति हमरा बड़ा मारलक। उनकर पति रविन्द्र ठाकुर कहलथिन कि हम पुना काम करई छी। तुरंत अइली त देखली कि हमर पत्नी अलग खाना बनवईय। यही पर पर हम चइला से मारे लगली। जेई से कपार फुट गेल हई। हम इलाज करा रहल छी अब हम एहन गलती न करब। उनकर ससुर सीताराम ठाकुर, भैसुर गोविन्द ठाकुर कहलथिन कि अगर अब बोई कष्ट लड़की के होतई तब समाज के जे सजा देवे के होतई उ देथिन। महिला समुह रामरती देवी अपसी देवी, विलक्षणी देवी, प्रेमिया देवी, कुशमा देवी सब कहलथिन कि ओई लड़की के साथ बहुत दिन से शोषण होईत रहलई। लेकिन जब हमरा समाज द्वारा मालुम भेल तब हमसब ओकरा परिवार के लोग के बहुत डाट फटकार कइली। अउर थाना में भी लेके गेली।
थाना प्रभारी प्रिय रंजन कहलथिन कि हम उनकर सनहा दर्ज कर लेले छी। अगर ओई लड़की पर कोई दिक्कत होतई तब उनका उपर कानूनी कारवाई कैल जतई। लेकिन उनका समाज के
द्वारा ही फैसला कैल जतई। युवा समिति के लोग सब राजेश साह, रामबली साह, रामनाथ साह, सब कहलथिन कि हम सब पुरे गांव के लोग अउर महिला समुह के सहयोग से सभा बइठलई। जेइमें निर्णय लेल गेलई कि महिला के सुरक्षा के लेल दु लाख रूपईया के वाउनड बंधाये के चाही। जई से उनका उपर साथ मार-पीट करे से पीहले सोचे।