कम्बल के लाने लड़ने परत हे लड़ाई

mahoba sahar, kasba khabar photo kambal ki mangमहोबा जिला, में ठण्ड से बचें के लाने विकलांग ओर बूढ़े आदमियन खा लम्बी लड़ाई लड़ने परत हे। सरकार गरीबन के लाने कम्बल भेजत हे। एते तो आदमियन खा कम्बल पायें के लाने विभाग के चक्कर ही नई गाली गलौज ओर मार भी सहने परत हे।
9 जनवरी खा सौ आदमी महोबा तहसील में ठण्ड से बचे के लाने कम्बल की मांग करत हते। जीसे तहसीलदार ओर आदमियन में झड़प हो गई। लगभग सौ आदमी ओर ओरतन ने तहसील में हंगामा कटो हतो। मौके में फोर्स के साथे पुलिस पोंहोच आदमियन खा समझा के मामला शान्त कराओ हतो।
गीता देवी, रामदेवी ओर सीता कहत हे की हम गरीब ओर बूढ़े आदमी तहसील में कम्बल लेन आये हते। तहसीलदार नन्हकू ने कम्बल देय के जघा डांट के भगाउत हतो।
विकलांग पार्टी को अध्यक्ष मुकेश भारती, को ओरप हे की तहसीलदार डांटे के साथे बदसुलूकी भी करी हे, ओर मारे खे भी दौड़ो हे। तहसीलदार नन्हकू कहत हे की मेनें कम्बल न होंय की बात कही हे। ओर न बदसुलूकी करी हे ओर न मारे खा कहो हे। झूठो आरोप लगाउत हे।
एसई ब्लाक जैतपुर कस्बा कुलपहाड़ कस्बा को रामकृपाल ओर काशीराम कहत हे की हम दस दिना से तहसील के चक्कर काटत हों। तीन दइयां तहसील से लौट गयें हे। गरीबन की कोनऊ नईं सुनत हे। कुलपहाड़ तहसीलदार रामजी कहत हें की गरीबन खा कम्बल दये जात हे। सब कोनऊ कम्बल की मांग करत हें तो का करन।