आवास योजना सूची में नाम 2011 से, लेकिन चित्रकूट के इन गांवों में आज की ज़मीनी हकीकत देखिये

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव अगरहुंणा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबन खातिर आवास के बात कीन जात हवै पै पांच हजार के आबादी मा चार आवास बस आवत हवै तौ केत्ते गरीबन का आवास मिलिहैं। ए.डी.ओ मनीष कुमार दिवेदी का कहब हवै कि  2011 के लिस्ट मा जेहिकर नाम रहा हवै वहिके आवास आवा हवै। मानिकपुर ब्लाक मा 2016-17 मा 540 आवास आयें हवै। रानी देवी बताइस कि टूट घर मा रहित हन। घर गिर जायें तौ हम दब के मर जई पै तबहूं हमें सरकार कइत से कलोनी नहीं दीन जात आय। संतोषिया बताइस कि 2011 के लिस्ट मा हमार नाम रहा हवै पै तबहूं में कलोनी के कउनौ सूचना नहीं आय। न हमें बतावा जात आय कि तुम्हरे खाता मा कलोनी का रुपिया आवा हवै कि नहीं आवा आय। संवरिया बताइस कि छोट घर बना हवै जेहिमा बहु लड़का सब रहत हवै पै हमें कलोनी नहीं दीन जात आय। सुमित्रा बताइस कि प्रधान आवास के फार्म जमा कइ लिहिस हवै।पैआवास नहीं देत आय। भोलिया बताइस कि मजूरी नहीं मिलत मजूरी मिलत हवै तौ डेढ़ सौ रुपिया मिलत हवै। येत्ते मा बच्चा पाली कि घर बनई टूट-फूट घर मा रहे का मजबूर हन पै हमें आवास नहीं मिलत आय।

रिपोर्टर- सहोद्रा 

Published on Aug 17, 2017