कभे छूटहें आदमी की दारू

जिला महोबा, ब्लाक महुआ, गांव पिपरी। एते के रहे वाली राम दुलारी ने बताओ कि मोए बिटिया उर्मिला की शादी तीन साल पेहले महुआ ब्लाक के गांव मकरी में चुन्नू के साथे भई हती। तभे से मोओ दमाद दारू पीके मोई बिटिया खें मारत हे। एई से में बोहतई परेशान रहत हों।
उर्मिला ने बताओ कि मोओ आदमी रोज लड़ाई करत हे। ऊ कहत हे कि तोए बाप ने दहेज में कछु नई दओ आय। एई बहाना खे लेके ऊ रोजई मारत हे। जा सहत-सहत मोए एक बिटिया हो गई हे पे में अब न सैहों। एई से 1 मार्च 2013 खे खुरहण्ड चैकी में रपट लिखाई हे। जभे कि एक साल से में अपने मायके में रहत हों। अब अगर ऊ मोए ससुराल लेवा जेहे तो चैकी में दरखास दे जेहों। नई तो जा मोए एसई परेशान करहें।
आदमी चुन्नू ने बताओ कि ऊ मोए दारू पिये खे मना करत हे। जभे कि में कोनऊ नशा नई करत हों जभे घर को काम करें खे कहत हों तो ऊ अपने मायके में झूठ कह देत हे कि मोए मारत हे ओर दहेज मांगत हे। जभे कि में ऊसे कछु नई कहत हे।