कभी न देखा ऐसा विकास, लेकिन योगी जी कहाँ गए?

24 अक्टूबर 2017 को प्रकाशित

जिला चित्रकूट। हिंया योगी आदित्यनाथ मंत्री बनै के बाद पहली बार आवा हवैं। 23 अक्टूबर का चित्रकूट के कर्वी ब्लाक के बनाड़ी गांव मा योगी जी गे हवै।हजारन ख्वाहिश लइ के मड़ई मुख्यमंत्री से मिलै आये रहै। एक कइत बनाड़ी गांव जउन  रातों रात चमक गा मुख्यमंत्री के आवें से पहिले,तौ दूसर कइत कर्वी ब्लाक का कोलगदहिया गांव हवै हुंवा के मड़ई निराश हवैं। काहे से मुख्यमंत्री का पहिले कोलगदहिया गांव मा आवें का रहै।कोलगदहिया गांव कर्वी से चार किलोमीटर दूरी हवै।हिंया जउन काम बीस साल मा नहीं भा रहै वा काम पन्द्रह दिना मा करा दीन गे हवैं।कोलगदहिया गांव का गयादीन बताइस कि पता नहीं कउन कारन होइगा कि मुख्यमंत्री हमार गांव मा नहीं आवत आहीं। नन्दकिशोर बताइस कि प्रधान सचिव सब खा के बइठ गें हवै, कुछौ विकास का काम नहीं कराइन आहीं। मुख्यमंत्री  के आवे के खबर से विकास का काम तेजी से करावा जात रहै।पै हिंया काम बहुतै ज्यादा अधूरा पड़ा हवै यहै कारन मुख्यमंत्री का दूसर गांव लिए जात हवैं।

बनाड़ी गांव के बिट्टी बताइस कि हमार गांव मा शौचालय नहीं बना  यहै खातिर मुख्यमंत्री से मिले आये हन।बनाड़ी के रामलाल,शंकर प्रसाद अउर बाबूलाल बताइन कि हिंया सब विभाग के अधिकारी आवत हवैं अउर विकास का काम करावत हवैं पहिले कउनौ अधिकारी हिंया झांके नहीं आवत रहैं।छह दिना से आवास का काम लाग हवैं।

तरौंहा का अजय बताइस  कि छोट – छोट सिक्का चलब काहे बंद होइगें हवैं या बात मुख्यमंत्री से पूछे का रहै।

मुख्यमंत्री के दउरा अउर विकास के काम के बारे मा विधायक चंद्रिकाप्रसाद उपाध्याय कहब हवै कि कोलगदहिया गांव के रास्ता ख़राब हवैं यहै कारन मुख्यमंत्री का बनाड़ी गांव भेजा गा हवै।बनाड़ी मा विकास का कुछ काम पहिले अउर कुछ काम बाद मा कीन गा हवै। आवास के छत मा केमिकल डाल के छत सुखावें के बात झूठ हवै।

मीरा जाटव और नाजनी रिजवी