कब होये उजाला?

gaovbijli 2 okजिला फैजाबाद, ब्लाक तारुन, गाँव हुसैनपुर केवटहिया नटहिया। यहि दुई पुरवा मा लगभग दसन साल से तेरह खम्भा लाग बाय। तार लाय के रखा बाय लकिन खींचा अबहीं तक नाय गा बाय।
जितेंद्र कुमार, बब्बन यादव, रामफेर बताइन कि लगभग दस साल से खम्भा लाग बाय। एक बार कुछ दूर तार लाग रहा तौ ट्रक मा फंसि के गिर गा रहा। फिर खम्भा गड़ा लकिन तार नाय खींचा गा जबकि तार रामखेलावन यादव के दुवारे पै आय के रखा बाय। तबौ पता नाय काहे खींचा नाय जात बाय जबकि चैराहा अउर आसपास के गांव मा बिजली बाय। जितेंद्र कुमार बताइन कि बिजली न हुवै से यतनी दिक्कत बाय कि बच्चन कै पढ़ाई ठीक से नाय होय पावत। बिजली रहा थै तौ बच्चन कै मन पढ़ाई मा लागा थै। दीया जलाय के पढ़ै मा हवा चले से दिया बुझ जा थै यसे पढ़ नाय पउते।
रामखेलावन यादव बताइन कि हमरे दुवारे पै तार बहुत दिन से रखा बाय लाग जात तौ मच्छर से, पढ़ै लिखै, मोबाइल चार्ज खेती के सिंचाई जैसन समस्या दूर होय जात।
पावर हाउस कै पुराने जेई आर. एस. गुप्ता बताइन कि हम पांच साल रहेन हमै जानकारी नाय न कि कउने योजना के अन्तर्गत रखा बाय। नये जेई जे.पी. गुप्ता अबही नया आय अहै।