कबाड़ से सुंदर जुगाड़, साथ में टाइम पास भी, ललितपुर ज़िले के महरौनी कस्बे में

गर्मी के मौसम में दिन बड़े ही लम्बे हो जाते हैं। सारा-सारा दिन बस उब ही होती रहती है। ऐसे में टाइम पास करने और सीखने को यदि कुछ अच्छा मिल जाये तो इससे अच्छा और क्या होगा!

तो आईये खबर लहरिया की पत्रकार आपको ले चलती है ऐसी ही कुछ उपयोगी सामान बनाने वाली महिलाओं के पास जिन्होंने गर्मी की छुट्टियों और खाली समय का कलाकारी के साथ उपयोग किया है।  

ललितपुर जिले के महरौली इलाके में कुछ महिलाएं खाली समय में बेकार बचे कपड़ो से उपयोगी सामान बना रही हैं।

12वीं में पढ़ने वाली कमलेश अपनी छुट्टियों का सदुपयोग कर रही हैं। वह बताती हैं, घर पर अधिकतर समय गुजारती हूँ। इसी बीच पिछले दो साल से यह काम सीख कर पुराने कपड़ों से पायदान बनाती हूँ।

घर के काम-काज से समय बचा कर अंगूरी और अभिलाषा भी पायदान बना रही हैं। उनका कहना है कि सारा वक़्त घर में ही गुजर जाता था इसलिए सोचा कुछ अलग भी कर लिया जाये और अब पायदान बना कर समय का सही उपयोग लगता है।

शिवानी खुश हो कर कहती हैं, मैं मशीन भी चला लेती हूँ और तीन तरह के पायदान बना लेती हूँ। ख़ुशी होती है अपने काम हो देख कर।

शांति लोगों के कहने पर पैसा लेकर पायदान बनाती हैं। कभी 40 तो कभी 50 लेकर वह एक दिन में 6-7 पायदान बना लेती हैं। जो लोग बनवाते हैं वहीँ साड़ी या कोई भी पुराना कपड़ा दे जाता है।

रिपोर्टर- सुषमा

25/05/2017 को प्रकाशित