कट्टी बट्टी हुई खट्टी

katti battiकलाकार – इमरान खान, कंगना रनोट, मनस्वी ममगाई निर्देशक – निखिल आडवाणी

पिछले सप्ताह आई निखिल आडवाणी की फिल्म हीरो तो कुछ खास कमाल नहीं कर पायी लेकिन क्या कट्टी बट्टी खास कमाल कर पाएगी।
फिल्म की शुरूआत होती है माधव काबरा यानि इमरान खान और पायल यानि कंगना रनोट की प्रेम कहानी से। माधव और पायल एक दूसरे से प्यार करते हैं । और दोनो पांच  साल तक एक साथ रहते हैं। कहानी तब मोड़ लेती जब पायल माधव को अचानक छोड़कर चली जाती है। माधव को उसके दोस्तों का पूरा साथ मिलता है। क्या माधव को पायल मिल पाएगी या नहीं। क्या होगा माधव और पायल के प्यार का। ये तो फिल्म देखने के बाद ही मालूम होगा।
आइए अब बात करते हैं फिल्म की और फिल्म के कलाकारों की। इस फिल्म की कहानी ही इस फिल्म को धोखा दे रही है। समझ में ही नहीं आ रहा है कि फिल्म का क्या हो रहा है। जबरदस्ती की भवनाएं डाली गयी हैं । अगर बात करें फिल्म के कलाकरों की तो एक बार फिर से कंगना रनोत ने आने काम से दर्शकों का दिल जीता है। इमरान खान ने ठीक ठाक काम किया है। इमरान की बहन पायल ने अच्छा काम किया है। इमरान को अपने मामा आमिर खान से सीखने की जरूरत है ताकि वो अपने काम को और निखार सकें। दर्शकों का दिल जीत सकें और उनका प्यार पा सकें।
फिल्म का संगीत अच्छा है लेकिन ज्यादा भावनाएं डालने के चक्कर में गड़बड़ हो गया है। अगर आप इस फिल्म को देखने जा रहे है तो आपको निराशा हाथ लगेगी। हो सकता है कंगना का अभिनय मरहम का काम करे।