कट्टरता के विरोधी लेखक की हत्या

(अनन्त बिजोय दास | साभार: फेसबुक)
(अनन्त बिजोय दास | साभार: फेसबुक)

ढाका, बांगलादेश। बांगलादेश में 12 मई को एक तैंतीस साल के ब्लागर यानी एक वेबसाइट लेखक की हत्या कर दी गई। देश में फरवरी से अब तक इस तरह की तीसरी घटना है। अनंत बिजाए दास नाम के इस व्यक्ति की हत्या उस वक्त हुई जब वह सुबह सिलहट शहर स्थित अपने घर से दफ्तर जा रहे थे। कुछ लोगों ने उन पर चाकू से कई बार हमले किए।
अनंत बिजाए मुक्तो मोना यानी आजाद मन नाम की एक वेबसाइट पर लिखते थे। इस वेबसाइट की शुुरुआत अविजित राय ने की थी। इनकी हत्या भी फरवरी में कर दी गई थी। इस वेबसाइट में कट्टरपथिंयों की राय के खिलाफ लिखते थे। वह तार्किकता और विचारों की आजादी के समर्थक थे। बांगलादेश एक मुस्लिम बाहुल देश है। सोलह करोड़ आबादी में से नब्बे प्रतिशत मुस्लिम समुदाय के हैं। इससे पहले इसी वेबसाइट के एक लेखक वशीकुर्र रहमान की हत्या भी कट्टरपंथियों द्वारा की गई थी। पुलिस हत्यारों की तलाश कर रही है।
कट्टरपंथी इस्लामवादियों ने सबसे पहले 2013 में इस वेबसाइट में लिखने वाले रजीब हैदर नाम के एक व्यक्ति की हत्या की थी।