कउनौतान करत बसर

mahila

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, मुहल्ला गाधीनगर अउर इन्द्रानगर। हिंया रोज के लगभग एक हजार मेहरिया कउनौ सब्जी बेच के तौ कउनौ कत्तौ गाडी मा चना, मूंगफली बेच के आपन परिवार वालेन का पेट भरत हवै। उनका पन्द्रह बरस से आज तक राशन कार्ड अउर हिंया तक कि रानी लक्ष्मीबाई का भी लाभ नहीं मिलत आय।
इन्द्रानगर मुहल्ला के बेलिया, मोहनिया, रानी अउर गांधी नगर मुहल्ला के रजुइया का कहब हवै कि हम बेरोजगार मेहरिया हिंया हुवा भटकित हन। मेहनत मजूरी कइके आपन परिवार का पेट पालित हन। सरकार कइती से हमका कउनौतान के मदद नहीं मिलत कि पेट रोटी का कुछौ सहारा होय। टाउन एरिया मा पांच महीना पहिले दरखास भी दीन हवै, पै अबै तक हमार कउनौ सुनवाई नहीं भे आय। अगर राशन कार्ड या फेर रानी लक्ष्मीबाई योजना के तहत रूपिया मिलै लागै तौ इं समस्या खतम होइ सकत हवै।
मानिकपुर टाउन एरिया के बाबू राधेश्याम का कहब हवै-” राशन कार्ड के जांच चलत हवै पात्रन का जरूर राशन कार्ड बनवा दीन जई।”