कइसन बनलई शौचालय

ga1जिला शिवहर, प्रखण्ड तरियानी, गांव सलेमपुर। इहां लगभग दु साल पहिले शौचालय बनलई। लेकिन एकोगो शौचालय कामील न रह गेलई।

इहां के रामाधार महतो अउर रूपा देवी कहलथिन कि हमरा सब से तीन सौ रूपईया लेके शौचालय बनयलक लेकिन उ कोनो कामें लायक न हई। केकरो देवाल गिर गेलई त केकरो टंकी फुट गेल हई। एई ठंडा में शौच के लेल बाहर जाये में बड़ा दिक्कत होई छई। बच्चा सब त बाहर जाये के नाम न लेई छई। ऐई से त न बनल रहतियई। सेहे अच्छा रहइत। एन.जि.ओ. महिला विकास ग्रामीण शिल्पकला प्रशिक्षण संस्थान के कार्यकर्ता विन्देश्वर महतों कहलथिन कि जई समय बनलई ओई समय लोग के लगलई कि मंगनी में दु हजार ईटा मिल जाएत। केहनो जमीन में बनवा लेलथिन अब नया भराव पर कोई दिवाल खड़ा कयल जाय त उ गिरवे करतई। हम ओई पंचायत में छौ सौ बीस शौचालय बनबईली।

मुखिया नाजो खातून के पति अमिन अंसारी कहलथिन कि अगर  खराब शौचालय हई त लोग अपने से बनावे। उनका अनुदान राशि देल जतई।