ओ हो हो…. घोड़ा भी नाचता है

अपने घोड़े के साथ राम
अपने घोड़े के साथ राम

जिला चित्रकूट ब्लाक कर्वी गांव भैसौधा भगत का पुरवा। अभी तक आपने इंसान का नाचते हुए देख होगा। शादी ब्याह में किसी खास माहौल में, पार्टी में या और कहीं भी। लेकिन क्या आपने कभी घोड़े की नाच देखा है।
जी  हां  घोडे़ का नाच। भगत का पूरवा में राम नाम का आदमी घोड़े का नाच दिखाता है। जिससे लोगों का मनोरंजन होता है और इससे राम की अच्छी खासी कमाई भी हो जाती है।
राम बताता है कि घोड़े का नाच दिखाने का काम उसके यहाँ तीन पीढ़ी से हो रहा है। सबसे पहले घोड़े को नाच सिखाने के लिए डीजे बजाते है और उसे इशारे से सिखाते है कि ऐसे नाचे। धीरे धीरे घोड़ा नाचना सीख जाता है।
शादी के मौसम में घोड़े को नचाते हैं और एक रात का दो हज़ार रुपया लेते हैं। मैं अपने घोड़े को नचाने के लिए मध्य प्रदेश के सतना तक लेकर जाता हूं। ये जानवर बहुत वफादार होते हैं।