ऐई तरह से कईसे होतई कुपोषण दूर

जिला शिवहर पूर्णवास केन्द्र पर सतरह अति कुपोषित बच्चा के जगह पांच अतिकुपोषित बच्चा रह रहल हई। तभी भी पैष्टिक आहार बहुत कम मिल रहल हई।
एन.आर.सी. में आयल अतिकुपोषित बच्चा साजिद के दादी संजोगिया देवी, दुर्गा कुमारी के माई सीमा देवी कहलथिन कि 9 जनवरी 2015 से हम सब रह रहल छी। लेकिन कहां ओतना सुविधा मिल रहल हई। दु बेर ही दुध मिलई छई। खाना भी समय से न मिल रहल हई। जेईसे कि दस बजे नास्ता, एक बजे खाना मिलई छई। त कईसे बच्चा के ताकत होतई। फलो न मिलई छई। झुठे के सरकार कमजोर बच्चा के लेल इ व्यवस्था कर देले छथिन। बच्चा के नाम पर सरकारी लोग के पैकेट में रूपईया जाई छई।
ए.एन.एम. नविदिता कुमारी, संजू कुमारी कहलथिन कि ठंडा के कारण बच्चा कम हई। महिला झुठ बोलई छथिन। इहां सब कुछ मीनू के अनुसार देल जा रहल हई। पांच गो बच्चा हई तईयो चार लीटर दूध लेल गेल हई। अंडा भी देल जाई छई। ठंडा में केला के बदले दोसर फल देल जाई छई।
एन.आर.सी. समन्वयक सुनिल कुमार कहलथिन कि अब बच्चा के माई के सौ रूपईया के जगह पचास रूपईया देल जा रहल हई। ऐई कारण लोग आवे के न चाहई छथिन। पौष्टिक आहार भी देल जाई छई। समान खत्म हो गेल हई त शाम के अतई। फल अउर हरा सब्जी सब दिन अबई छई। बाकी समान एक महिना के स्टाॅक मेें अबई छई।