एशियाड में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली महिला निशानेबाज बनीं राही सरनोबत

साभार: ट्विटर

एशियाई खेलों में राही सरनोबत स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला निशानेबाज बन गईं हैं। उन्होंने महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में 2 बार शूट ऑफ से गुजरने के बाद यह उपलब्धि हासिल की।

इस तरह से राही ने जकाबारिंग शूटिंग रेंज में खेलों के नए रेकॉर्ड के साथ सोने का तमगा जीता। राही और थाइलैंड की नपासवान यांगपैबून दोनों का स्कोर 34-34 होने पर शूट ऑफ का सहारा लिया गया।

पहले शूट ऑफ में राही और यांगपैबून ने 5 में से 4 शॉट लगाए। इसके बाद दूसरा शूट ऑफ हुआ जिसमें भारतीय निशानेबाज जीत दर्ज करने में सफल रहीं। दक्षिण कोरिया की किम मिन्जुंग ने ब्रॉन्ज मेडल जीता।

इससे पहले, 16 साल के सौरभ चौधरी ने 10 मीटर पिस्टल फाइनल में गोल्ड जीता था। राही एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारत की अब तक की छठी निशानेबाज हैं। उनसे पहले जसपाल राणा, रणधीर सिंह, जीतू राय और रंजन सोढ़ी और सौरभ चौधरी गोल्ड जीत चुके हैं।

फाइनल में राही का 34 का स्कोर एशियाई खेलों का एक संयुक्त रेकॉर्ड है। इससे पहले 2013 वर्ल्ड कप में गोल्ड जीतने वाली भारत की पहली पिस्टल निशानेबाज बनीं राही को पिछले साल कोहनी में गंभीर चोट का सामना करना पड़ा था। राही ने महसूस किया कि उन्हें अपने तकनीक में बदलाव करने की जरूरत है और इसलिए 2 बार के विश्व विजेता एवं जर्मनी के ओलिंपिक पदक विजेता मुन्खबायर दोर्जसुरेन से ट्रेनिंग लेनी शुरू कर दी।

इससे पहले राही ने 2010 के कॉमनवेल्थ खेलों में 2 मेडल और 2014 के इंचिओन एशियाई खेलों में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।