एन.सी.आर.सी. में कराउ इलाज

कुपोषण के शिकार कृष्णा
कुपोषण के शिकार कृष्णा

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड रीगा, पंचायत, गांव सीराही। उहां वार्ड नम्बर दस भोकराहा टोला में लालबाबू राय के बेटी कृष्णा कुमारी लगभग साढ़े चार साल के हई। लेकिन उ कुपोषित छथिन। एन.सी.आर.सी. में भी देखलथिन। लेकिन कुछ दिन ठीक रहला के बाद फेर तबियत खराब रहई छई।
कृष्णा के माई लीलम देवी, बाबूजी लालबाबू राय कहलथिन कि हमरा पास पांच लड़का दु गो लड़की हई। कृष्णा के तबियत हमेशा खराब रहई छई। केतना जगह दबाई करईली तईयो ठीक न रहई छई। लगभग दु तीन महीना पहिले सीतामढ़ी एन.सी.आर.सी. में इलाज कंे लेल ले गेल रही। उहां इक्कीस दिन तक रहली। उहां त ठीक हो गेल रहलई। कहल गेल रहई कि खान पान पर ध्यान देवे के लेल मीट मछली अण्डा देवे के लेल। लेकिन हम सब मजदूर आदमी छी हमेशा रूपईया न रहईय। जेई करण हमेशा महंग चीज न मिलई छई। पंद्रह दिन के बाद फेर बोलबईथिन लेकिन न जा पईली।
प्रखण्ड चिकित्सा पदाधिकारी डाॅक्टर शिवशंकर प्रसाद कहलथिन कि जे भी बच्चा कुपोषित हई ओकर नाम जे एन.सी.आर.सी. में दर्ज करवईथिन। चाहे उ आशा हो या ए.एन.एम. हो उनका विभाग से रूपईया देल जतई। कुपोषित के दलाज सीतामढ़ी में होई छई।